सब मेनू
 

क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र चेन्नई - दृष्टि तथा लक्ष्य

परिचय

मुख्यालय कार्यालय के दिनांक 03/11/1997 के पत्र संख्या TRG/Div/3031/RSC द्वारा चेन्नई के क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र की मंजूरी प्रदान की गई थी । औपचारिक रूप से इसका उदघाटन 01/04/98 को किया गया। रक्षा लेखा नियंत्रक चेन्नई के मुख्य कार्यालय की दूसरी मंजिल में इसके लिए एक हॉल तथा पुस्तकालय समर्पित किया गया है। प्रशिक्षण पदानुक्रम की एक दूसरी पांत का गठन करने के उद्देश्य से पेंशन, वायुसेना, नौसेना आदि कार्यात्मक क्षेत्रों में नेतृत्व की भूमिका ग्रहण करने के लिए क्षेत्रीय अध्ययन केन्द्रों की स्थापना की गई थी।

रक्षा लेखा नियंत्रक चेन्नई को , एकमात्र ऐसा नियंत्रक होने पर गर्व है जो पाँच अलग –अलग कार्यों को निभा रहा हैं । यह कार्यालय दो कार्यालयों में से एक है जिन्हें क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र की जिम्मेदारियाँ सौंपी गई हैं ।

आरएससी चेन्नई के लिए कार्यादेश

  ..नई भर्ती का प्रशिक्षण
..कम्प्युटर साक्षरता का प्रसार

  भविष्य में यह सीबीटी और दूरस्थ शिक्षा संकुल के लिए एक लांच पैड के रूप में उभरेगा.

क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र चेन्नई का लक्ष्य कथन

हम सार्थक प्रशिक्षण का आयोजन कर उत्कृष्टता हासिल करने तथा रक्षा लेखा नियंत्रक चेन्नई संगठन को एक "लर्निंग ओर्गनाइसैशन" बनाने का मार्ग प्रशस्त करने के लिए प्रयासरत है । Learning Organisation".

आरएससी चेन्नई का विशन

क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र चेन्नई, क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र जैसे विभाग के अन्य प्रशिक्षण संगठनों के साथ मिलकर, हमारे विभाग के मानव संसाधन विकास पर ध्यान केंद्रित करेगा। क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र की कोर गतिविधियां वे होंगी जो हमारे अधिकारियों और कर्मचारियों (मैन पावर संवर्धन) का कार्यसाधक ज्ञान समृद्ध करेंगी। यह क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र बंगलौर की प्रशिक्षण गतिविधियों के लिए एक पूरक समर्थन प्रदान करेगा। आदेशार्थ लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए, क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र निम्नलिखित उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए पाठ्यक्रम का आयोजन करेगा ।

             a) सूक्ष्म स्तर कार्य नियोजन आवश्यकताओं पर गहन प्रशिक्षण की सुविधा।

          b) संगठन के अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ सममूल्य पर नियत प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से छूट के लिए आवेदन देनेवाले अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करना ।

            c) क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र बंगलौर के अनुपूरक के रूप में रक्षा लेखा नियंत्रक चेन्नई सहित दक्षिण में स्थित अन्य कमान के विभिन्न कार्यालयों की प्रशिक्षण आवश्यकताओं की पूर्ति।.

Next